मन

258

मन क्यों मन को ढूंढे,
ये मन ही जाने

मछली क्यों तट पर आकर,
फिर वापिस जाये,
ये कौन बताये.

कोई दूर होकर,
अपना हो जाए,
अपना होकर,
दूर हो जाए

ये मन को कौन बताये.